04 जुलाई 2011

July 4, 2011 at 5:29 am | Posted in आज का विचार | 2 Comments

इतने मधुर न हों कि लोग आपको निगल लें, और इतने कटु भी नहीं कि वे आपको उगल दें।

2 जून 2011

June 2, 2011 at 8:42 am | Posted in आज का विचार | Leave a comment

जोखिम का परिणाम भुगतना उतना कठिन नहीं होता जितना जोखिम उठाना।

11 मार्च 2011

March 11, 2011 at 12:13 pm | Posted in आज का विचार | Leave a comment

वास्तविक महानता की उत्पत्ति स्वयं पर खामोश विजय से होती है।

26 दिसंबर 2007

December 26, 2007 at 5:18 am | Posted in आज का विचार | 3 Comments

दूसरों में आदर्श ढूँढना वक्त की बर्बादी करना है।

आज का विचार

October 16, 2007 at 4:40 am | Posted in आज का विचार | 2 Comments

पैसे से खुशियाँ नहीं ख़रीदी जा सकती लेकिन वो बहुत सारी तक़लीफ़ों को कम कर देता है।

आज का विचार

October 15, 2007 at 7:21 am | Posted in आज का विचार | 7 Comments

दुनिया में कुछ लोग सिर्फ़ इसलिए ज़िन्‍दा हैं, क्‍योंकि उन्‍हें मारना कानूनी अपराध है।

18 सितंबर 2007

September 18, 2007 at 4:01 am | Posted in आज का विचार | Leave a comment

अमीर होते हुए गरीबी का एहसास होना नामुमकिन है, लेकिन गरीब न होते हुए भी गरीबी का एहसास होना मुमकिन है।

11 सितंबर 2007

September 11, 2007 at 5:15 am | Posted in आज का विचार | 4 Comments

राजनीति में मूर्खता अयोग्‍यता नहीं होती।

10 सितंबर 2007

September 10, 2007 at 4:59 am | Posted in आज का विचार | 3 Comments

मुझे इस बात पर बहुत कम अफ़सोस हुआ कि मैं मौन क्‍यों रहा, लेकिन इस बात का कई बार अफ़सोस हुआ कि मैं बोला क्‍यों।

7 सितंबर 2007

September 7, 2007 at 4:14 am | Posted in आज का विचार | Leave a comment

ख़ुद को बदल लेना चाहिए, इससे पहले कि समय आपको बदले।

Next Page »

Create a free website or blog at WordPress.com. | The Pool Theme.
Entries and comments feeds.

Follow

Get every new post delivered to your Inbox.