18 अगस्‍त 2007

August 18, 2007 at 5:45 am | Posted in आज का विचार | 3 Comments

जीवन एक लंबी और असाध्‍य बीमारी की तरह है।

3 Comments »

RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

  1. बीमारी नामक कोई वस्तु नहीं होती, स्वास्थ्य के अभाव को ही बीमारी कहते हैं। बस! जरा ‘स्व’-‘स्थ’ हो जाइए!

  2. यदि चलना ना चाहो तो बिमारी है,यदि आप जीवन को बिमारी मानते हैं तो उस का इलाज खोजने की कोशिश करो ।

  3. स्वभाव के विपरीत, आपकी बात से असहमत होने का मन करता है.


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.
Entries and comments feeds.

%d bloggers like this: